skip to Main Content

भारत पहली बार अंतर्राष्ट्रीय आर्मी स्काउट्स मास्टर्स प्रतियोगिता का आयोजन करेगा

भारत में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय सेना स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता का आयोजन होने जा रहा है। इस प्रतियोगिता का आयोजन 24 जुलाई से 17 अगस्‍त,  2019 तक जैसलमेर में कोणार्क कोर के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय सैन्‍य खेलों के हिस्‍से के रूप में किया जायेगा।

उद्देश्य:
इस प्रतियोगिता का उद्देश्य विभिन्न देशों के बीच मित्रतापूर्ण रिश्ते निर्मित करना है। इसका उद्देश्य शांतिपूर्ण सहयोग, एकजुटता की भावना, विकास तथा शान्ति को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु:

  • यह प्रतियोगिता अंतर्राष्ट्रीय आर्मी खेल का पांचवां संस्करण है।
  • भारत पहली बार अंतर्राष्ट्रीय सैन्‍य खेलों के हिस्‍से के रूप में सेना स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है।
  • इस प्रतिस्पर्धा में भारत, रूस, कजाख़स्तान, आर्मेनिया, बेलारूस, उज़्बेकिस्तान, सूडान, ज़िम्बाब्वे तथा चीन की मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री स्काउट टीमें भाग लेंगी।
  • रूस अंतर्राष्ट्रीय सेना खेलों का संस्थापक सदस्य है।
  • प्रतिस्पर्धा का आयोजन भारतीय सेना के “कोणार्क कॉर्प्स” द्वारा जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन में किया जायेगा।

स्पर्धा का आयोजन:

  • इस स्पर्धा का आयोजन पांच चरणों में किया जायेगा।
  • इसके द्वारा प्रतिभागियों के नौसंचालन कौशल, टीमवर्क, निशानेबाज़ी इत्यादि की परीक्षा ली जायेगी।
  • इस दौरान छदम युद्ध परिदृश्यों में टैंकों और बख्‍तरबंद गाड़ियों वाले स्काउट्स के समग्र कौशल का परीक्षण किया जाएगा।
  • इस स्पर्धा में ड्राइविंग इन्फेंट्री, हमले की तैयारी, युद्धक वाहन, रासायनिक हमले से बचाव इत्यादि विभिन्न कौशल में प्रतिभागियों की योग्यता की परीक्षा ली जायेगी।
  • इनके युद्ध कौशल का अंतर्राष्ट्रीय न्यायाधीशों के पैनल द्वारा परखा जाएगा। इस इवेंट में Mi-17, एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर, बीएमपी इन्फेंट्री कॉम्बैट व्हीकल्स तथा यूएवी का उपयोग किया जायेगा।

विदित हो कि अंतर्राष्ट्रीय सैन्य खेलों में 30 देश हिस्सा लेते हैं। इस दौरान 2 सप्ताह तक एक दर्जन से अधिक प्रतिस्पर्धाओं का आयोजन किया जाता है। रूस 2015 से अंतर्राष्ट्रीय सैन्य खेलों का आयोजन कर रहा है। जुलाई, 2018 में रूस में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सैन्य खेलों में भारतीय सेना ने टैंक बायाथ्लोन तथा एल्ब्रुस रिंग नामक इवेंट में हिस्सा लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top