skip to Main Content

विश्व बैंक देगा भारत को COVID19 परियोजना हेतु 1 अरब डॉलर का इमरजेंसी फंड

World Bank Proposes 1 Billion USD Emergency Fund for India to COVID19 Project

कोरोना वायरस (COVID19) महामारी (Pandemic) की चपेट में आए भारत को विश्व बैंक (World Bank) ने मदद करने का प्रस्ताव किया है। दरअसल, विश्व बैंक ने भारत को कोविड-19 आपातकालीन प्रतिक्रिया और स्वास्थ्य प्रणालियों की तैयारी से संबंधित ‘कोविड-19 परियोजना’ (COVID19 Project) के लिए 1 अरब डॉलर (1 Billion USD) देने की पेशकश की है। विश्व बैंक अपनी ‘कोविड-19 शीघ्र निपटान’ सुविधा के माध्यम से यह आपातकालीन कोष (Emergency Fund) आवंटित करेगा।

विश्व बैंक से मिलने वाली इस सहायता राशि का उपयोग व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों की ख़रीद और देश के विभिन्न अस्पतालों में अलग से नए वॉर्ड की स्थापना के लिए भी किया जाएगा।

विश्व बैंक के अनुसार वैश्विक कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव से निपटने में विभिन्न देशों की मदद करने के उद्देश्य से 15 महीने के हिसाब से 160 अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता जारी करने की योजना को मंज़ूरी दी गई है।

 

☞ इसे भी पढ़ें : COVID19: Bareilly में मज़दूरों पर Sodium Hypochlorite का छिड़काव

 

☞ Read Also : What is COVID-19

 

COVID19 परियोजना

  • कोविड-19 आपातकालीन प्रतिक्रिया और स्वास्थ्य प्रणालियों की तैयारी से संबंधित इस चार वर्ष की परियोजना का उद्देश्य कोविड–19 महामारी के दौरान भारत की स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को विकसित करना है।
  • यह परियोजना दीर्घकालिक नीतियों के निर्माण में सहायता करेगी।
  • विश्व बैंक के इस प्रस्तावित कोष के ज़रिये, विश्व बैंक और भारत सरकार द्वारा सर्वोत्तम अंतर्राष्ट्रीय प्रथाओं का पालन करके इस महामारी से जुड़े ख़तरों से बचाव के लिए प्रत्येक संभव प्रयास किये जाएंगे।
  • यह परियोजना आगामी वर्षों में स्वास्थ्य संबंधी किसी भी संकट से निपटने के लिए पूर्व-तैयारी में भारत की सहायता करेगी।
  • इस परियोजना का एक मुख्य उद्देश्य कोविड-19 के खतरे से समुचित तरीके से निपटने के साथ-साथ भारत में राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणाली को मज़बूत करना भी है।
  • इस परियोजना से भारत में कोविड-19 महामारी फ़ैलने का खतरा भी कम और फिर धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगा।

 

☞ इसे भी पढ़ें : COVID19-भारत में फंसे विदेशियों की सहायता हेतु ‘Stranded in India’ पोर्टल

 

☞ Read Also : Workers’ Cup-2020 matches to be held at Qatar 2022 training sites

 

विश्व बैंक इमरजेंसी फंड

विश्व बैंक की यह इमरजेंसी फंडिंग कोरोना वायरस के क़हर का सामना कर रहे दुनिया भर के विकासशील देशों के लिए सहायता अभियान के पहले सेट का हिस्सा है जिसे विश्व बैंक के कार्यकारी निदेशकमंडल द्वारा मंज़ूरी दी गई है। विश्व बैंक से मिलने वाली इस सहायता राशि का पहला हिस्सा 25 विकासशील देशों की सहायता करेगा और 40 से अधिक देशों में फास्ट-ट्रैक प्रक्रिया का उपयोग करेगा।

इस सहायता राशि की घोषणा के दौरान विश्व बैंक ने कहा कि भारत में इस 1 अरब डॉलर की आपातकालीन वित्तीय सहायता से बेहतर स्क्रीनिंग, संपर्क का पता लगाने, प्रयोगशाला जांच, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण ख़रीदने और अलग से नए वॉर्ड बनाने में मदद मिलेगी।

 

☞ इसे भी पढ़ें : NASA ने की नए SunRISE Mission की घोषणा

 

☞ Read Also : Bollywood Singer Kanika Kapoor tested Coronavirus positive

 

ग़ौरतलब है कि वर्तमान में विश्वभर में कोरोना वायरस (COVID19) महामारी की चपेट में अब तक क़रीब 10 लाख आ चुके हैं जिसमें क़रीब 46 हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है।  अभी भी पूरे विश्व में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है।

☞ Read Also : Peseiro named Venezuela’s new football coach

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top